नए कपड़े खरीदने का है शौक, तो जान ले ये बाते ! कपड़ो का सीधे स्किन से संपर्क बीमारियों का कारण बन सकता है !

नए कपड़े को सीधे पहनने से स्किन के संपर्क में आना बीमारियों का कारण बन सकता है !नए कपड़े  तो हर कोई खरीदता  है। लेकिन अगर आप नए कपड़ों को तुरंत ही पहन लेते हैं तो यह बीमारियों का कारण बन सकता है। आपकी ये आदत आपको मुसीबत में डाल सकती है। इसलिए जरूरत है कि नए कपड़ों को पहनने से पहले धोकर फिर प्रयोग किया  जाए।

कपड़ों को बिना धोए पहनने पर क्या नुकसान हो सकते हैं?
कपड़े बनने के बाद कई प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद दुकान तक आते हैं। जिसमें ट्रांसपोर्ट के माध्यम से कई जगह जाना और रखना शामिल होता है। फैक्ट्री से लेकर स्टोर तक आने के बीच कपड़े जगह-जगह रखे जाते हैं। जिससे उनके कई सारे कीटाणुओं और जीवाणुओं के संपर्क में आने का खतरा रहता है। ये बैक्टीरिया भले ही ना नजर आएं लेकिन त्वचा के संपर्क में आते ही उसे बीमार कर देते हैं। कई बार कपड़ों पर इस्तेमाल किए गए कलर स्किन पर इंफेक्शन के कारण बन जाते हैं। नए कपड़ों को जरूरी है कि अच्छे से धोकर और उनके केमिकल वाले रंगों में मौजूद कणों को निकालकर ही पहना चाहिए। ऐसा करने से आप अनचाही समस्याओं से बच सकते हैं। अन्यथा कई सारे वायरस भी संपर्क में आ सकते है। इसके अलावा कोरोना ने भले ही हर तरह के नियम में बदलाव ला दिया हो। लेकिन पहले स्टोर्स पर कपड़ों को खरीदने से पहले फिटिंग देखने का विकल्प रहता था। जिसकी वजह से कई सारे लोग इन्हें ट्राई करते थे। ऐसे में जब आप इन कपड़ों को खरीदते हैं तो आप नहीं समझ पाते कि इसे कितने लोगों ने पहनकर ट्राई किया होगा। आमतौर पर ऐसे में कपड़ों पर मौजूज कीटाणु आपको बीमार करने के लिए काफी हैं। जिसकी वजह से स्किन रैशेज, खुजली और एलर्जी की समस्या होना आम बात है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© Newslife India Developed By GSoft Technologies